Latest Posts

ऐसे मिलती है सफलता और लक्ष्य ….

एक बार स्वामी विवेकानंद के आश्रम में एक व्यक्ति आया जो बहुत दुखी लग रहा था। उस व्यक्ति ने आते ही स्वामीजी के पैरों में गिर पड़ा और बोला कि मैं अपने जीवन से बहुत दुखी हूं, मैं बहुत मेहनत…
Read more

अवसरों को पहचानें…..

मित्रों, हम सभी के जीवन में कुछ न कुछ ऐसी घटनाएं घटती रहती हैं कि जिनमें हमारे जीवन को मोड़ देने की जबर्दस्त क्षमता होती है। अब यह हम पर है कि हम उस अवसर को पहचानकर उसका इस्तेमाल कर…
Read more

माँ को भगवान का दर्जा दिया गया है

एक गरीब परिवार में एक सुन्दर सी बेटी ने जन्म लिया.. बाप दुखी हो गया बेटा पैदा होता तो कम से कम काम में तो हाथ बटाता,, उसने बेटी को पाला जरूर, मगर दिल से नही…. वो पढने जाती थी…
Read more

माँ रोती है????

एक दिन उसने भगवान से पूछा कि औरते क्यो रोती है बिना बात के.? भगवान ने जवाब दिया, जब मै औरत को बना रहा था, तो मैने फैसला किया कि उसे कुछ खास बनाना हैं, मैने उसके कँधे मजबूत बनाये,…
Read more

सबसे बड़ा धनुर्धर..

बहुत सी तीरंदाजी प्रतियोगिताएँ जीतने के बाद एक नौजवान तीरंदाज खुद को सबसे बड़ा धनुर्धर मानने लगा । वह जहाँ भी जाता लोगों को उससे मुकाबला करने की चुनौती देता, और उन्हें हरा कर उनका मज़ाक उड़ाता । एक बार…
Read more

प्रार्थना में बड़ी शक्ति होती है

डॉ. मार्क जो की एक बहुत ही प्रसिद्ध कैंसर स्पेशलिस्ट थे , उन्हें एक बार किसी समारोह में भाग लेने के लिए किसी दूर शहर जाना था . उस समारोह में उन्हें उनकी नई मेडिकल रिसर्च की सफलता के इस…
Read more

रामराज्यमें शिक्षा कैसे प्रदान की जाती थी ?

प्रभु श्रीरामने स्वतन्त्र शिक्षा देकर घरघरमें श्रीराम निर्माण किए थे ! रामराज्यमें आर्थिक योजनाके साथ ही उच्च राष्ट्रीय चरित्रका निर्माण किया गया था । तत्कालिन लोक निर्लाेभी, सत्यवादी, अलंपट, आाqस्तक और सक्रिय थे; क्रियाशून्य नहीं थे । जब बेकारभत्ता मिलता…
Read more

जीवन क्या है?

Life – जीवन विलियम शेक्सपियर (William Shakespeare) ने कहा था कि जिंदगी एक रंगमंच है और हम लोग इस रंगमंच के कलाकार | सभी लोग जीवन (Life) को अपने- अपने नजरिये से देखते है| कोई कहता है जीवन एक खेल…
Read more

हनुमान नाम का मतलब है ?

आस्था का विश्वास का सत्य का समर्पण का करुणा का विवेक का तेज़ का स्व अर्पण काबल का , ज्ञान का स्फूर्त निर्णय और सम्मान का प्रकाश का गति का एकाग्र आत्मस्थ संज्ञान का साधना का तप का जप सुनाम…
Read more

अपनेपन के एहसास

दोस्तों, रामायण कथा का एक अंश, जिससे हमे सीख मिलती है “अपनेपन के एहसास” की। भगवान श्री राम, भ्राता लक्ष्मण एवं सीता मैया चित्रकूट पर्वत की ओर जा रहे थे, राह बहुत पथरीली और कांटीली थी । अचानक से श्री…
Read more