Mother’s day special( माँ, तो महान होती है )

एक बार की बात है | एक जंगल में आम का एक बरा पेड़ था | एक प्यारा बच्चा रोज उस पेड़ पर खेलने आया करता था | वह कभी पेड़ की डाली तोड़ता कभी आम तोड़ता और उचल कूद करता रहता था | आम का पेड़ भी उस बच्चे से बहुत खुश रहता था | कई साल इस तरह ही बीत गए | अचानक एक दिन बच्चा कहीं चल गया और बहुत दिन तक नही आया | आम का पेड़ उस बच्चे का काफी दिनों तक इंतजार कर रहा था पर वह नहीं आया | अब पेड़ उदास रहने लगा |

एक बार की बात है | एक जंगल में आम का एक बरा पेड़ था | एक प्यारा बच्चा रोज उस पेड़ पर खेलने आया करता था | वह कभी पेड़ की डाली तोड़ता कभी आम तोड़ता और उचल कूद करता रहता था | आम का पेड़ भी उस बच्चे से बहुत खुश रहता था | कई साल इस तरह ही बीत गए | अचानक एक दिन बच्चा कहीं चल गया और बहुत दिन तक नही आया | आम का पेड़ उस बच्चे का काफी दिनों तक इंतजार कर रहा था पर वह नहीं आया | अब पेड़ उदास रहने लगा |

 

 

काफी साल बाद वह बच्चा फिर से पेड़ के पास आया पर वह कुछ बड़ा हो चुका था | पेड़ उसे देख कर काफी खुश हुआ और खेलने को कहा | पर बच्चा बोला अब वह बड़ा हो गया है | अब वह उसके साथ नही खेल सकता | उस बच्चे ने कहा कि मुझे अब खिलौने से खेलना अच्छा लगता है पर मेरे पास खिलौने खरीदने के लिए पैसे नहीं हैं | पेड़ ने बोला उदास मत हो | तुम मेरे फल तोड़ लो और उसे बेच कर खिलौना खरीद लो | वह फल तोड़ कर ले गया और खुश रहने लगा | अचानक वह फिर से आना बंद कर दिया | पेड़ फिर से उसका राह देखने लगा |

Slide4

 

 

 

Image result for sad tree clip

अचानक बहुत दिनों बाद वह वापस आया लेकिन अब वह बड़ा हो चुका था | उसने पेड़ से कहा अब मेरी शादी हो गई है परन्तु मेरे पास रहने के लिए अपना घर नही है | पेड़ ने कहा दुखी मत हो “मैं हूँ ना” तुम मेरे टहनियों को काटकर एक अच्छा सा घर बना लो | उसने उसकी टहनियों को काटकर एक अच्छा सा घर बना लिया और आराम से रहने लगा | वह उस दिन के बाद से उस पेड़ के पास नहीं आया | परन्तु पेड़ उसका अब भी राह देख रहा था | वह इंतजार कर रहा था कि वह लड़का उससे मिलने जरुर आएगा  पर वह नहीं आया | एक दिन एक बड़ी सी  आंधी आई और वह कमजोर हो चुका पेड़ टूटकर गिर गया |

 

सीख – मित्रों “उसी पेड़ की तरह हमारे माता पिता होते हैं | परन्तु हमें उस बच्चे की तरह  नहीं  बनना चाहिए जो अपने माता पिता को नहीं देखते हैं |”

 

 

 

 

This entry was posted in मुखपृष्ठ. Bookmark the permalink.

One Response to "Mother’s day special( माँ, तो महान होती है )"

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*