Menu

Category: हिंदी कहानियां

बेटी

💜 एक बेटी का पिता 💜 एक पिता ने अपनी बेटी की सगाई करवाई, लड़का बड़े अच्छे घर से था

सच्चाई आपको हैरान कर सकती है|

एक 24 साल का लड़का चलती ट्रैन से बहार झाँक रहा था लड़के ने कहा “पापा, देखिये सारे पेड़ पीछे

बेटी कभी भी अपने माँ बाप के घर से नहीं जाती

एक पिता ने अपनी बेटी की अच्छे परिवार में सगाई करवाई, लड़का बड़े अच्छे घर से था सुशील था तो

अकल की दुकान

एक था रौनक। जैसा नाम वैसा रूप। अकल में भी उसका मुकाबला कोई नहीं कर सकता था। एक दिन उसने

रोटी का सफर

मां मुझे रोटी दो। अरे बेटा आकर ले जाओ। ठीक है। अक्षत ने कहा। पर यह क्या हुआ, जैसे मैं

अपना दीपक बनो

दो यात्री धर्मशाला में ठहरे हुए थे। एक दीप बेचने वाला आया। एक यात्री ने दीप खरीद लिया। दूसरे ने

सज्जन और दुर्जन

यह मनुष्य का स्वाभाविक गुण है कि वह दूसरे लोगों में भी अपने अनुसार गुण अथवा दोष देख लेता है।

चित्रकार की चालाकी

  एक महाजन ने चित्रकार से अपना चित्र बनवाया | बड़ी मेहनत के बाद जब चित्र तैयार हुआ तो महाजन

बीरबल के किस्से ( बीरबल का न्याय )

  श्यामलाल  एक वृध्द व्यक्ती था |  जीवन के अंतिम पड़ाव पर उसकी इच्छा हुई कि वह तीर्थयात्रा पर जाए,

बीरबल के किस्से ( चोर की कहानी )

  बादशाह अकबर हथकरघा उधोग को बढ़ावा देने के लिए दलालों के माध्यम से भारी मात्रा में रुई मंगवाते थे