Category Archives: हिंदी कहानियां

बेटी

💜 एक बेटी का पिता 💜 एक पिता ने अपनी बेटी की सगाई करवाई, लड़का बड़े अच्छे घर से था तो पिता बहुत खुश हुए। 💜 लड़के ओर लड़के के माता पिता का स्वभाव बड़ा अच्छा था.. तो पिता के … Continue reading

Posted in हिंदी कहानियां | Leave a comment

सच्चाई आपको हैरान कर सकती है|

एक 24 साल का लड़का चलती ट्रैन से बहार झाँक रहा था लड़के ने कहा “पापा, देखिये सारे पेड़ पीछे जा रहे हैं!” पापा मुस्कुराने लगे, सामने वाली सीट पर बैठे व्यक्तियो ने लड़के की इस बचकाना हरकत को दया … Continue reading

Posted in हिंदी कहानियां | Leave a comment

बेटी कभी भी अपने माँ बाप के घर से नहीं जाती

एक पिता ने अपनी बेटी की अच्छे परिवार में सगाई करवाई, लड़का बड़े अच्छे घर से था सुशील था तो पिता बहुत खुश हुए.. लड़के ओर लड़के के माता पिता का स्वभाव बड़ा अच्छा था तो पिता के सिर से … Continue reading

Posted in हिंदी कहानियां | 1 Comment

अकल की दुकान

एक था रौनक। जैसा नाम वैसा रूप। अकल में भी उसका मुकाबला कोई नहीं कर सकता था। एक दिन उसने घर के बाहर बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा- ‘यहां अकल बिकती है।’ उसका घर बीच बाजार में था। हर आने-जाने वाला … Continue reading

Posted in हिंदी कहानियां | Leave a comment

रोटी का सफर

मां मुझे रोटी दो। अरे बेटा आकर ले जाओ। ठीक है। अक्षत ने कहा। पर यह क्या हुआ, जैसे मैं रोटी लेने जा रहा था, रोटी ने मुझे हाथ हिलाकर अपनी ओर आकर्षित किया और कहा- अरे अक्षत, मुझे खाने … Continue reading

Posted in हिंदी कहानियां | Leave a comment

अपना दीपक बनो

दो यात्री धर्मशाला में ठहरे हुए थे। एक दीप बेचने वाला आया। एक यात्री ने दीप खरीद लिया। दूसरे ने सोचा, मैं भी इसके साथ ही चल पडूंगा, मुझे दीप खरीदने की क्या जरूरत है। दीप लेकर पहला यात्री रात … Continue reading

Posted in हिंदी कहानियां | Leave a comment

सज्जन और दुर्जन

यह मनुष्य का स्वाभाविक गुण है कि वह दूसरे लोगों में भी अपने अनुसार गुण अथवा दोष देख लेता है। एक बार गुरु द्रोणाचार्य ने युधिष्ठिर को पास बुलाकर कहा- ‘तुम राजधानी में जाकर पता लगाओ कि ऐसे कितने लोग … Continue reading

Posted in हिंदी कहानियां | Leave a comment

चित्रकार की चालाकी

  एक महाजन ने चित्रकार से अपना चित्र बनवाया | बड़ी मेहनत के बाद जब चित्र तैयार हुआ तो महाजन ने चित्रकार से कहा की ठीक से नहीं बना है , दुबारा बनाकर लाए |   चित्रकार फिर से चित्र … Continue reading

Posted in हिंदी कहानियां | Leave a comment

बीरबल के किस्से ( बीरबल का न्याय )

  श्यामलाल  एक वृध्द व्यक्ती था |  जीवन के अंतिम पड़ाव पर उसकी इच्छा हुई कि वह तीर्थयात्रा पर जाए, उसने अपने जीवनभर की कमाई में से कुछ अशर्फियाँ रखकर शेष अपने एक युवा मित्र रामलाल को सौंप कर  कहा … Continue reading

Posted in हिंदी कहानियां | Leave a comment

बीरबल के किस्से ( चोर की कहानी )

  बादशाह अकबर हथकरघा उधोग को बढ़ावा देने के लिए दलालों के माध्यम से भारी मात्रा में रुई मंगवाते थे और बहुत ही सस्ती दर पर कातने  वाले को दे देते थे , जिससे उनका गुजारा चलता रहता था | … Continue reading

Posted in हिंदी कहानियां | Leave a comment