Author Archives: Alok Kumar

हिंदी चुटकुले

1)….टीचर: तुम कहां पैदा हुए थे? पप्पू: तिरुअनंतपुरम। टीचर: इसकी स्पेलिंग बताओ? पप्पू (थोड़ी देर सोचने के बाद): शायद गोवा में पैदा हुआ था। 2)…..पत्नी: खिड़की के परदे लगवा दो, नया पड़ोसी बार-बार घर में झांकता रहता है। मुझे देखने … Continue reading

Posted in हिंदी चुटकुले | 1 Comment

लक्ष्य के प्रमुख पड़ाव

लक्ष्य का निर्धारण बिना लक्ष्य निर्धारण के व्यक्ति इधर- उधर भागता रहता है | अगर आप  को यह पता नही है कि आप की मंजील क्या है? आप क्या प्राप्त करना चाहते हैं? आप की आकांक्षा क्या है तो आप … Continue reading

Posted in प्रेरणादायक | Leave a comment

Mother’s day special (अनपढ़ माँ की जिद्द ने बनाया आईएएस)

अहमदाबाद के प्रकाश कंवर को अपने अनपढ़ होने का मलाल था , लेकिन साधरण परिस्थित में गुजर बसर करते हुए आज अपनी बेटी डॉ. रतन कंवर को आईएएस बना देखकर वे गौरवान्वित है |   रतन कंवर ने पहले अपनी … Continue reading

Posted in प्रेरणादायक | Leave a comment

Mother’s day special( माँ, तो महान होती है )

एक बार की बात है | एक जंगल में आम का एक बरा पेड़ था | एक प्यारा बच्चा रोज उस पेड़ पर खेलने आया करता था | वह कभी पेड़ की डाली तोड़ता कभी आम तोड़ता और उचल कूद … Continue reading

Posted in मुखपृष्ठ | 1 Comment

Mother’s day special ( माँ की ममता अनलोम )

    एक औरत थी, जो अंधी थी | जिसके कारण उसके बेटे को स्कुल में बच्चे चिढाते थे , कि अंधा का बेटा आ गया ! हर बात में उसे यह सुनने को मिलता था की यह अंधी का … Continue reading

Posted in मुखपृष्ठ | Leave a comment

बुद्ध जयन्ती कहां, कैसे मनाई जाती है?

बुद्ध जयंती को लेकर देशभर में उल्‍लास का माहौल देखा जा रहा है. भारत के अलावा कई अन्‍य देशों में भी बुद्ध के विचारों में आस्‍था रखने वाले लोग काफी उत्‍साहित हैं. बुद्ध जयंती से जुड़े कुछ महत्‍वपूर्ण तथ्‍य: -बुद्ध … Continue reading

Posted in आत्मकथा | Leave a comment

budhhaPurnima राजा का बेटा बना बौद्ध धर्म का संस्थापक, जानिये इस धर्म का इतिहास

बौद्ध धर्म भारत की श्रमण परम्परा से निकला धर्म और दर्शन है. इसके प्रस्थापक महात्मा बुद्ध शाक्यमुनि (गौतम बुद्ध) थे. वे 563 ईसा पूर्व से 483 ईसा पूर्व तक रहे. ईसाई और इस्लाम धर्म से पहले बौद्ध धर्म की उत्पत्ति … Continue reading

Posted in आत्मकथा | Leave a comment

इस हस्ती से गण‍ित को लगता था डर…

अगर आपको मैथ्स से डर लगता है तो श्र‍ीनिवासन रामानुजन से सीखें. रामानुजन बेहद गरीब परिवार से थे. उनके पास अपने शौक पूरा करने के पैसे नहीं थे. पर वे गणित के एक सवाल को 100 से भी ज्यादा तरीकों … Continue reading

Posted in प्रेरणादायक | Leave a comment

सकारात्मक सोच:–

पुराने समय की बात है, एक गाँव में दो किसान रहते थे। दोनों ही बहुत गरीब थे, दोनों के पास थोड़ी थोड़ी ज़मीन थी, दोनों उसमें ही मेहनत करके अपना और अपने परिवार का गुजारा चलाते थे। अकस्मात कुछ समय … Continue reading

Posted in आत्म सुधार | Leave a comment

जानें क्‍यों नेपोलियन को कहा जाता था ‘लिटिल कॉरपोरल’

जानिए बुलंदी छूने वाले सैन्‍य कमांडर और राजनेता नेपोलियन बोर्नापार्ट के बारे में. 1. फ्रांसीसी क्रांति के दौर में बुलंदी छूने वाले सैन्‍य कमांडर और राजनेता नेपोलियन बोर्नापार्ट का जन्‍म 15 अगस्‍त 1769 और निधन 5 मई 1821 को हुआ … Continue reading

Posted in प्रेरणादायक | Leave a comment