Menu

सोया, बादाम और ओट के सेवन से कम करें कोलेस्ट्रॉल

पौष्टिक आहार के जरिए तीन महीने में कोलेस्ट्रॉल को 20 फीसदी तक कम किया जा सकता है। जीवनशैली बदलने से भी फायदा होगा। इसके लिए आहार में कटौती करने की जरूरत नहीं है, बल्कि इसमें कुछ पौष्टिक पदार्थों की मात्रा बढ़ानी होगी। इससे एलडीएल कोलेस्ट्रॉल (बुरा कोलेस्ट्रॉल) कम होगा और स्ट्रोक्स का खतरा काफी कम हो जाएगा।

फाइबर: ओट और अनाज में ज्यादा फाइबर की मात्रा पाई जाती है। सब्जी, फल, फली, बीज और बादाम में भी इसकी अच्छी मात्रा होती है। ओट तीन महीने तक खाने से कोलेस्ट्रॉल 12 प्रतिशत तक कम हो सकता है।

जैतून का तेल: रोज 25 मिली या दो चम्मच वर्जिन ऑयल या एक्सट्रा वर्जिन ऑयल (जैसे जैतून व नारियल तेल) का सेवन अच्छे कोलेस्ट्राल (एचडीएच) की मात्रा बढम देता है। इसमें खाना पकाने के साथ सलाद पर इसे छिड़का जा सकता है।

बादाम: रोज 30 ग्राम यानि करीब 20 बादाम का सेवन फायदेमंद होगा।

सोया: रोज आधा लीटर सोया दूध या 30 ग्राम सोयाबीन या 30 ग्राम सोया दही का सेवन कोलेस्ट्राल एक फीसदी कम कर देता है।

लीवर में उत्पादन
हमारे आहार से लीवर कोलेस्ट्रॉल का निर्माण करता है। वहीं लीवर रक्त में इस पदार्थ की मात्रा को भी नियंत्रित रखता है। इसलिए कुछ लोग जब ज्यादा अंडे या मछली वगैरह का सेवन करते हैं, फिर भी उनका लीवर कम कोलेस्ट्रॉल बनाता है। वहीं लीवर की ओर से बनाया गया कोलेस्ट्राल पाचक तरल पदार्थ बाइल का भी निर्माण करता है, जो आहार में से वसा का अवशोषण करता है। लीवर रक्त में भेजने से पहले कोलेस्ट्रॉल को लियोप्रोटीन में बदल देता है।

क्या है कोलेस्ट्रॉल
कुछ लोग सोचते हैं कि यह बुरी चीज है, लेकिन ऐसा नहीं है। वसा और मोम की तरह के गुणों वाला यह पदार्थ नई कोशिकाओं के निर्माण, सेक्स और तनाव घटाने वाले हार्मोन के उत्पादन के लिए जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *