Menu

मदन की सफलता

मदन एक छोटे से गाँव का रहने वाला था | वह पढ़ने लिखने में तो कमजोर था  |

परन्तु उसका दिमाग बहुत तेज था |

वह जिस बात को एक बार सुन लेता उसे कभी नहीं भूलता पर उसे पढने लिखने में मन नहीं लगता  |

 

मदन हमेशा अपने कक्षा में सब बच्चों से कम अंक लाता था | शिक्षक उसकी इस बात से परेशान हो चुकी थी |

 

एक दिन शिक्षक ने मदन के माता पिता को बुलाकर कहा कि “ अपने जीवन के पच्चीस साल के कार्यक्रम में मैंने पहली बार ऐसे बच्चे को देखा है ” ये अपने जीवन में कुछ नहीं कर पायेगा |

आप इसे हमारे स्कुल से ले जाएँ | यह सुनकर मदन के माता पिता को बहुत आहत हुआ और उसने शर्म के मारे गाँव छोड़कर शहर चले गये |

कुछ साल बाद जब उस टीचर को दिल की बीमारी के कारण शहर जाना पाड़ा,  तो सब ने उसे शहर के एक मसहुर डॉक्टर का नाम सुझाया जो हार्ट ऑपरेशन करने में बहुत अधिक ख्याति प्राप्त कर चुका था|

शिक्षक ने सर्जरी करवाई और ऑपरेशन सफल रहा |

जब वो बेहोशी से वापस आई और आँखे खोली तो उसके सामने एक सुन्दर और नौजवान डॉक्टर के रूप में मदन खड़ा था | मदन को डॉक्टर के रूप में खड़ा देखकर उसकी आंखे नम हो गई | उसे दस साल पहले कही हुई बातें याद आ गई कि “ ये अपने जीवन में कुछ नहीं कर पाएगा ” |

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *