अकबर का सवाल

दरवार में एक दिन बीरबल उपस्थित नहीं था | इसलिए कई दरवारी बीरबल की बुड़ाई करने लगे |

उन में चार दरबारी जो बीरबल के प्रति कुछ ज्यादा ही जहर उगल रहे थे | उन से बादशाह अकबर ने एक सवाल पूछा – कि “इस संसार में सब से बारी चीज क्या है |”

उन चारों की बोलती बंद हो गई , तब अकबर ने उन्हें सीधा करने के उद्देश्य से फिर कहा – “ तुम चारो तो बहुत समझदार हो जल्दी बताओ , वरना चारो को फँसी की सजा दे दूंगा |’’

फँसी की बात सुनकर उनके चेहरे की हवा उड़ने लगीं | इन्हें समझ नहीं आ रहा था की क्या जबाब दे | कोई खुदा को सब से बड़ा बताता है, हो कोई बादशाह अकबर की सल्तनत को | बादशाह अकबर ने जब उन्हें पुनः डांटा तो वे चुप हो गये  और सोंचने लगे | कुछ सोंच कर उन में से एक ने बादशाह से कुछ दिन का समय माँगा |

बादशाह अकबर ने उन्हें तीन दिन का समय दे दिया और कहा कि तीन दिन के बाद भी यदि उन्हें उत्तर नहीं मिला तो उनकी मौत निशिचत है |

अंततः उन चारो को  उत्तर के लिये बीरबल के पास जाना पड़ा | बीरबल ने उन चरों से कहा “मैं तुम्हें बादशाह की गुस्से से बचा लूँगा और उनके सवाल का जबाब भी दे दूंगा …. किन्तु मेरी शर्त है |”

‘हमें सारी शर्ते मंजूर हैं |’

“ठीक है , तुम चरों में से दो लोग चारपाई को कंधा दो और एक मेरा हुक्का पकड़े और दूसरा मेरे जूते , इस तरह बादशाह के दरबार तक ले जाया जाए |” बीरबल ने कहा |

उन चरों के सिर पर मौत मंडरा रही थी , अतः उन्होंने तुरंत यह शर्त मान ली | बीरबल चारपाई पर बैठ गया, दो जनों ने उसकी चारपाई उठा ली |

एक ने हुक्का पकड़ा और दुसरे ने उनका जूता लेकर चल दिया | इस तरह वे सभी दरबार में पहुँच गए |

बीरबल को इस तरह दरबार में आता देखकर बादशाह अकबर ने पूंछा – “बीरबल यह क्या मजाक है ?

फिर बीरबल ने कहा कि “जहाँपनहा , मुझे लगता है आपको आपके सवाल का जबाब मिल गया होगा |

इस संसार में सब से बड़ी चीज जरूरत (गर्ज) है | जिसके लिए इंसान कुछ भी करने को तैयार हो जाता ,उदहारण आपके सामने मौजूद हैं |

बादशाह अकबर ने उन चरों की ओर देखा जो मुंह लटकाकर खरे थे | वें चरों भी समझ चुके थे की यही उनकी गुस्ताखी की सजा है | जो उन्हें बादशाह अकबर ने अलग ही अंदाज में दे दिया

 

 

Image result for birbak sitting on court

This entry was posted in हिंदी कहानियां. Bookmark the permalink.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*